More

    Latest Posts

    IKS Mela 2022 : दिल्ली में बज रहा संस्कृत विश्वविद्यालय वाराणसी के ज्ञान का डंका

    IKS Mela 2022: अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद वसंत कुंज नई दिल्ली में आयोजित आईकेएस (इंडियन नॉलेज सिस्टम) मेले में संस्कृत विश्वविद्यालय के ज्ञान का डंका बज रहा है। देशभर के 13 आईकेएस केंद्रों के सम्मेलन में संस्कृत विश्वविद्यालय  की तरफ से 64 भारतीय कलाओं का प्रदर्शन किया गया है। रविवार को विश्वविद्यालय के प्रतिनिधियों को यहां सम्मानित किया गया।

    चार दिनी मेले में संस्कृत विश्वविद्यालय की तरफ से 64 कलाओं में 7 विधाओं के पोस्टर लगाए गए हैं। वाराणसी से इस मेले में कुलपति प्रो. हरेराम त्रिपाठी, डॉ. रविशंकर पांडेय, डॉ. विजेंद्र कुमार आर्य और डॉ. कुप्पा विल्वेश ने भाग लिया। डॉ. रविशंकर पांडेय ने प्राचीन भारतीय ज्ञान परंपरा में निहित खेती की तकनीकों और ‘जल शास्त्र’ में वर्णित जल संसाधनों का प्रस्तुतिकरण किया। इसके साथ ही शास्त्रों के उद्धरणों से यह बताया कि ‘जल शास्त्र’ में जल स्रोतों का विवरण, इन्हें पहचानने के साथ ही इस्तेमाल के बारे में बताया गया है। ‘वृष्टि विज्ञान’ पर भी चर्चा की। रविवार को आईकेएस के समन्वयक प्रो. सूर्य नारायण गन्त्री ने विश्वविद्यालय को सम्मानित भी किया। विश्वविद्यालय के प्रतिनिधि डॉ. रविशंकर पांडेय ने यह सम्मान प्राप्त किया। 

    Latest Posts

    Don't Miss