More

    Latest Posts

    पाकिस्तान से प्रताड़ित होकर आए ये मेडिकल ग्रेजुएट भारत में कर सकेंगे प्रैक्टिस, NMC ने मांगे आवेदन

    राष्ट्रीय चिकित्सा आयोग (एनएमसी) ने प्रताड़ित होकर पाकिस्तान से आये अल्पसंख्यकों से आधुनिक चिकित्सा/एलोपैथी की प्रैक्टिस के वास्ते स्थायी पंजीकरण के लिए शुक्रवार को आवेदन आमंत्रित किये। ये ऐसे लोग हैं जो 31 दिसंबर, 2014 को या उससे पहले भारत आए थे और उन्होंने नागरिकता ले ली थी। 

    एनएमसी के स्नातक चिकित्सा शिक्षा बोर्ड (यूएमईबी) द्वारा जारी एक सार्वजनिक नोटिस के अनुसार, छंटनी के बाद आवेदकों को आयोग या इसके द्वारा अधिकृत किसी एजेंसी द्वारा आयोजित करायी जाने वाली परीक्षा में बैठने की अनुमति दी जाएगी।

    आवेदन देने की पात्रता को सूचीबद्ध करते हुए, यूएमईबी ने कहा कि आवेदक के पास एक वैध चिकित्सा शैक्षणिक योग्यता होनी चाहिए और वह भारत में प्रवास से पहले पाकिस्तान में मेडिकल की प्रैक्टिस कर रहा था।

    NEET UG 2022 : MBBS दाखिले से पहले समझें नीट एडमिशन कटऑफ और क्वालिफाइंग परसेंटाइल में अंतर

    आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि पांच सितंबर, 2022 है। आवेदकों को एनएमसी वेबसाइट पर दिए गए लिंक के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन भरने और तत्संबंधीए निर्देशों का सख्ती से पालन करने की सलाह दी गई है।

    Latest Posts

    Don't Miss